कोरोना का टीका नहीं लगवाने पर कर्मचारियों को नौकरी से निकलेगा गूगल

0

दैनिक झारखंड न्यूज

नई दिल्ली । कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन फिर लोगों की टेंशन बढ़ा दी है। कई कंपनियां दोबारा वर्क फ्रोम होम पर वापस लौट रही हैं। वह कोविड वैक्सीनेशन पर ज्यादा जोर दे रही है। अब इसको लेकर गूगल (Google) भी सख्त हो रहा है। एक रिपोर्ट के अनुसार कंपनी ने अपने कर्मचारियों से कहा है कि जिन लोगों ने टीका नहीं लगवाया है, उनकी सैलरी रोक दी जाएगी। साथ ही नौकरी से भी हाथ धोना पड़ सकता है।

रिपोर्ट के अनुसार गूगल ने अपने कर्मचारियों के लिए एक मेमो जारी किया है। इस में कोरोना वायरस को लेकर चेतावनी दी गई है। कंपनी ने वैक्सीनेशन डिटेल सबमिट करने के लिए 3 दिसंबर तक वक्त दिया था। हालांकि गूगल ने आगे टीका ना लगवाने के लिए धार्मिक या मेडिकल कारणों से छूट पाने का भी विकल्प दिया है। इस मेमो में कहा गया है कि अगर डेडलाइन तक कर्मचारी वैक्सीन स्टेटस सबमिट नहीं करते तो कंपनी उनसे पर्सनली संपर्क करेगी।

…तो कंपनी से निकाल दिया जाएगा

गूगल ने मेमो में कहा, जो कर्मचारी 18 जनवरी तक वैक्सीनेशन के नियमों का पालन नहीं करेंगे। उन्हें 30 दिन के लिए पेड एडमिनिस्ट्रेटिव लीव पर भेजा जाएगा। इसके बाद भी डोज नहीं लगवाया तो 6 महीने के लिए अनपेड पर्सनल लीव दिया जाएगा। इसके बाद भी कोई कर्मचारी वैक्सीन नहीं लगवाता है, तो कंपनी से निकाल दिया जाएगा।

गूगल के प्रवक्ता लोरा ली एरिकसन ने द वर्ज को बताया कि हमने पहले कहा है हमारी वैक्सीनेशन की जरूरते सबसे महत्वपूर्ण तरीकों में से एक है। जिससे हम वर्कफोर्स को सुरक्षित रख सकते हैं। वह सर्विस को चालू रख सकते हैं। हम अपने कर्मचारियों की सहायता करने के लिए हर संभव प्रयास करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.