कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच जर्मनी में सबसे सख्त लॉकडाउन लगा, मंदी का खतरा बढ़ा

0

दैनिक झारखंड न्यूज

बर्लिन। कोरोना वायरस के कारण जर्मनी में एक बार फिर सख्त लॉकडाउन लगाया गया है। यह लॉकडाउन 16 दिसंबर से 10 जनवरी के बीच होगा। इस दौरान जरूरी सामान के अलावा अन्य सभी दुकानें और मॉल बंद रहेंगे। उधर, अर्थशास्त्रियों ने सोमवार को कहा कि जर्मनी के एक और सख्त लॉकडाउन के फैसले से यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में एक और मंदी का खतरा बढ़ गया है। चांसलर एंजेला मर्केल के एक शीर्ष सहयोगी ने सोमवार को कहा कि जर्मनी में अगले साल की शुरुआत में लॉकडाउन को खत्म होने की संभावना नहीं है। यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था जर्मनी को सर्दियों के महीनों में कई प्रकार के प्रतिबंधों से जूझना होगा।

क व्यापक स्तर सहजता की अभी संभावना नहीं

मार्केल और जर्मन राज्य के नेताओं ने बुधवार से अधिकांश दुकानों को बंद करने पर सहमति व्यक्त की। 10 जनवरी तक कोरोना संक्रमणों के एक ज्वार को रोकने के लिए लगाए गए हल्के प्रतिबंध असफल साबित हुए। मर्केल के चीफ ऑफ स्टाफ हेल्ग ब्रौन ने कहा कि एक व्यापक स्तर सहजता की अभी संभावना नहीं है।

उन्होंने कहा कि सांस संबंधी संक्रमण के मामले में जनवरी और फरवरी हमेशा मुश्किल महीने होते हैं। सख्त नियमों के तहत 16 दिसंबर से केवल आवश्यक दुकानें जैसे कि सुपरमार्केट, फार्मेसियों और बैंक खुले रहेंगे। बाल सैलून, ब्यूटी पॉर्लर और टैटू पार्लरों को भी बंद करना होगा। कोरोना संक्रमण को लेकर  रॉबर्ट कोच इंस्टीट्यूट (आरकेआई) ने सोमवार को 16,000 से अधिक नए मामलों और 188 मौतों की सूचना दी। पिछले सप्ताह के अंत में इससे लगभग आधे मामले दर्ज किए गए थे। इससे पहले ड्रॉप को लेकर कम टेस्ट किए जा रहे थे और सप्ताहांत के दौरान कम डेटा आरकेआई को हस्तांतरित किया जा रहा था।

इस साल दो विश्व युद्ध के बाद जर्मनी में सबसे खराब मंदी का सामना करने का अनुमान लग रहा है

अर्थव्यवस्था मंत्री पीटर अल्तमईर ने कहा कि महामारी को नियंत्रण में लाने और अगले साल मंदी को रोकने के लिए सामाजिक और आर्थिक जीवन के अधिकांश पहलुओं को बंद करने का निर्णय जरूरी था। इस साल दो विश्व युद्ध के बाद जर्मनी में सबसे खराब मंदी का सामना करने का अनुमान लग रहा है।  अल्तमेयर ने कहा कि अब लॉकडाउन के दौरान बड़ी आर्थिक गिरावट दर्ज की गर्इ है। अगर हम स्मार्ट हैं तो यह संभव है कि अर्थव्यवस्था की रक्षा कर ली जाए।

-रायटर्स

Leave A Reply

Your email address will not be published.