बुल्गारिया में वॉलिन्टरी बेसिस पर मिलेगी कोरोना वैक्सीन, सबसे पहले डॉक्टर्स, नर्स और डेंटिस्ट को

0

दैनिक झारखंड न्यूज

सोफिया। बुल्गारिया में अब वॉलिन्टरी बेसिस पर कोरोना की फ्री वैक्सीन मिलेगी। शुक्रवार को इस संदर्भ में एलान किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री कोस्टांडिन एंजेलोव (Kostandin Angelov) ने बताया कि जैसे ही यहां पर वैक्सीन के डोज को खरीद लिया जाएगा उसके बाद सभी लोगों को फ्री में टीका लगाया जाएगा और सबसे पहले यह टीका डॉक्टर, नर्स, डेंटिस्ट और फार्मासिस्ट को लगाया जाएगा।

इस महीने के अंत तक लोगों को वैक्सीन मिलनी भी शुरू हो जाएगी

बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण से भारत के साथ-साथ दुनिया के तमाम देश इससे बचाव के लिए वैक्‍सीन की डील में लगे हुए हैं। कई देशों में तो वैक्‍सीन की खेप भेजी जा चुकी है और बताया जा रहा है कि इस महीने के अंत तक लोगों को वैक्सीन मिलनी भी शुरू हो जाएगी। मिलनी भी शुरू हो जाएगी।  वैक्सीन के लिए भारत ने भी 160 करोड़ का ऑर्डर दिया है। इसके साथ ही भारत दुनिया में सबसे अधिक ऑर्डर देने वाला देश भी बन गया है।

बता दें कि नोवावैक्‍स ने भी कोरोना वैक्‍सीन विकसित की है। भारत ने इसके साथ भी डली की है। यहां पर भारत की तरफ से एक बिलियन डोज का ऑर्डर दिया गया है। उधर, भारत ने रूसी कोरोना वैक्‍सीन स्‍पूतनिक V के 10 करोड़ डोज के लिए डील की है। बताते चले कि इस वैक्‍सीन का अंतिम ट्रायल भारत में अभी जारी है।

रूस की गामालेया इंस्‍टीट्यूट ने स्‍पूतनिक V वैक्‍सीन को विकसित किया गया

भारतीय राज्य हैदराबाद की डॉ रेड्डी के साथ ट्रायल के लिए स्‍पूतिनक V ने समझौता किया है। गौरतलब है कि 11 अगस्‍त को रूस ने इस वैक्‍सीन को विकसित करने का दावा किया था, लेकिन अब तक भारत के अलावा किसी भी दूसरे देश ने इस वैक्सीन के लिए ऑर्डर नहीं दिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, रूस की गामालेया इंस्‍टीट्यूट ने स्‍पूतनिक V वैक्‍सीन को विकसित किया गया है।

बता दें कि इसके अलावा कोरोना वैक्सीन विकसीत करने वाली कंपनियों में सनोफी-जीएसके, फाइजर-बायोएनटेक और मॉडर्ना को भारत ने अब तक कोई ऑर्डर नहीं दिया है। बताते दें कि वैक्‍सीन की सप्‍लाई से पहले कंपनियों की वैक्‍सीन को वैश्‍विक स्‍तर पर मंजूरी लेनी होगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.