विधानसभा घेरने जा रहे नियोजित शिक्षकों और पुलिस के बीच झड़प, लाठीचार्ज में कई घायल

0
  • नियोजित शिक्षकों की चेतावनी-अगर मांगें नहीं मानी गई तो और उग्र आंदोलन करेंगे

दैनिक झारखंड न्यूज

पटना । समान काम- समान वेतन समेत 7 सूत्रीय मांगों को लेकर बिहार के नियोजित शिक्षक गुरुवार को सड़क पर उतर आए। विधानसभा का घेराव करने जा रहे शिक्षकों ने पुलिस बैरिकैडिंग तोड़ने की कोशिश की। पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों को समझाने की कोशिश की। लेकिन वे नहीं माने। इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों ने पथराव कर दिया। तब पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया। पुलिस और शिक्षकों में झड़प भी हुई। इसमें कई पुलिसकर्मी और शिक्षकों को चोटें आई हैं।

शिक्षा में निजीकरण को रोका जाए, साथ ही पुराने शिक्षकों को पदोन्नति दी जाए

नियोजित शिक्षकों का कहना है कि हम लोग गर्दनीबाग धरनास्थल से शांतिपूर्वक विधानसभा का घेराव करने जा रहे थे। पुलिस ने हम पर बर्बरतापूर्ण कार्रवाई की। सरकार हमारी मांगों को दबाना चाहती है। हमारी मांग है कि शिक्षा में निजीकरण को रोका जाए। साथ ही पुराने शिक्षकों को पदोन्नति दी जाए और समान काम समान वेतन का लाभ मिले। शिक्षकों का कहना है कि जब तक सरकार हमारी मांग नहीं सुनेगी, हमारा आंदोलन जारी रहेगा।

शिक्षकों के धरना-प्रदर्शन पर शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा का कहना है कि बातचीत से रास्ता निकलता है। धरना-प्रदर्शन से कुछ नहीं होने वाला। शिक्षक अपनी बातों को हमारे सामने रखें, उसमें उचित मांगों पर सरकार विचार करेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.