हेमंत सोरेन का बड़ा बयान, कहा- मार्च 2021 तक 10 से 15 हज़ार युवक-युवतियों को मिलेगी नौकरी

0
  • मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया, कहा- कोरोना संकट से निपटने हुए जीवन को सामान्य बनाने और विकास की गति तेज करने की दिशा में सरकार कर रही है काम।
  • 29 दिसंबर को सरकार के पूरे हो रहे हैं एक साल , सरकार की उपलब्धियों से जनता को कराएंगे अवगत।
  • राज्य के शहरी और ग्रामीण इलाकों की जरूरतों के हिसाब से बनाई गई है रोजगार से जुड़ी योजनाएं।
  • ज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजन सरकार की विशेष प्राथमिकताओं में शामिल।
  • स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए भी सरकार बना रही है कार्य योजना।

दैनिक झारखंड न्यूज

रांची/दुमका 2021 नई उम्मीदों का साल होगा। नए वर्ष में बड़े पैमाने पर युवक- युवकों को नौकरी देने के लिए सरकार द्वारा कार्य योजना तैयार की जा रही है । अगले साल मार्च तक लगभग 10 से 15 हज़ार युवाओं को नौकरी दी जाएगी। इसके अलावा स्वरोजगार से लोगों को जोड़ने के लिए भी एक्शन प्लान बनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने आज दुमका स्थित अपने आवास में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करने के दरम्यान ये बातें कहीं । उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजन सरकार की विशेष प्राथमिकताओं में शामिल है। इसके लिए हर क्षेत्र में रोजगार की संभावनाएं तलाशने के निर्देश अधिकारियों को दे दिए गए हैं।

सरकार के पूरे हो रहे हैं 1 साल, कई नई योजनाएं शुरू की जाएंगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि 29 दिसंबर को हमारी सरकार के 1 साल पूरे हो रहे हैं । इस मौके पर कई नई योजनाएं शुरू की जाएंगी । वही, पिछले एक साल के दौरान सरकार की उपलब्धियों से भी जनता को अवगत कराया जाएगा । जनता की उम्मीदों पर हमारी सरकार खरा उतरने की दिशा में लगातार कदम बढ़ा रही है ।जनता की समस्याओं को दूर करना सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल है ।

कोरोना संकट में भी शुरू की गई कई अहम योजनाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह साल कोरोना महामारी की वजह से काफी चुनौतियों भरा रहा है। लेकिन, इस वैश्विक महामारी के बीच हमारी सरकार ने कई अहम योजनाएं शुरू की है, ताकि लोगों को राहत दी जा सके। इस सिलसिले में मनरेगा के अंतर्गत तीन नई योजनाएं शुरू की गई है , जिसके जरिए मानव दिवस सृजित करने के साथ विकास से जुड़ी योजनाओं को गति दी जा रही है।

इसके अलावा पर्यटन के विकास के लिए खाका तैयार कर लिया गया है। इस क्षेत्र में भी स्थानीय लोगों को रोजगार से जोड़ा जाएगा। सरकार ने शहरी और ग्रामीण इलाकों के लिए उनकी जरूरतों को देखते हुए अलग-अलग योजनाएं बनाई है। शहरी क्षेत्र में लोगों को रोजगार के लिए योजना चलाई जा रही है। सरकार का मकसद है कि कोरोना काल में जो मजदूर अपने घर वापस आए हैं, उन्हें रोजगार उपलब्ध करा सके।

जीवन को सामान्य बनाने के साथ विकास को गति देने का हो रहा है काम

मुख्यमंत्री ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना से आज पूरी दुनिया जूझ रही है। इस वजह से कई व्यवस्थाएं ठप हो गई है। लेकिन, इन सबके बीच हमारी सरकार कोरोना संकट से निपटने की दिशा में लगातार आगे बढ़ रही है। पिछले 1 साल की चुनौतियों से बाहर निकलते हुए जीवन को सामान्य बनाने के साथ विकास की गति को तेज किया जा रहा है। विदित है कि सीमित संसाधनों के भरोसे सरकार ने ना सिर्फ कोरोना को नियंत्रित करने में सफल हो रही है बल्कि राज्य को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.