अमेज़न इंडिया ने सुरक्षा उपायों को मजबूत करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस संचालित ‘डिस्टेंस असिस्टेंट’ तैनात किया

0
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई), ऑगमेंटेड रियलिटी और मशीन लर्निंग का लाभ उठाते हुए, यह स्मार्ट सॉल्यूशन एसोसिएट्स को विज़ुअल क्यूस और सेंसर्स के माध्यम से रियल-टाइम में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की याद दिलाता है

दैनिक झारखंड न्यूज

नई दिल्ली अमेरिका और कुछ अन्य देशों में ‘डिस्टेंस असिस्टेंट’ टेक्नोलॉजी की सफल तैनाती के बाद, अमेजन इंडिया ने आज देश में अपने परिचालन स्थलों (ऑपरेशनल साइट्स) पर ‘डिस्टेंस असिस्टेंट’ लगाने की घोषणा की। एआई संचालित यह इनोवेशन रियल-टाइम में, साइट पर एसोसिएट्स को सोशल डिस्टैंसिंग फीडबैक प्रदान करते हुए, अन्य लोगों से सुरक्षित नजदीकी बनाए रखने की याद दिलाएगा। वैश्विक महामारी के बीच एक निवारक सुरक्षा उपाय होने के साथसोशल डिस्टैंसिंग जारी रखते हुए, यह स्मार्ट सॉल्यूशन सभी इमारतों में मौजूद अमेज़न इंडिया के हजारों एसोसिएट्स की सुरक्षा सुनिश्चित करने वाला अगला कदम है।

व्यक्तिगत आवाजाही को ट्रैक करने और अन्य लोगों से उनकी भौतिक दूरी का पता लगाने के लिए, ‘डिस्टेंस असिस्टेंट’आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ऑगमेंटेड रियलिटी और मशीन लर्निंग को उपलब्ध करा कर फायदा पहुंचाता है। रडार स्पीड चेक प्रणाली की तरह ही, यह इनोवेशन अमेज़ॅन इंडिया साइट में आते-जाते समय मॉनिटर, कैमरा और स्थानीय कंप्यूटिंग डिवाइस के जरिये तत्काल विज़ुअल फीडबैक के साथ एसोसिएट्स एक मैजिक-मिरर जैसा अनुभव प्रदान करता है। यह स्टैंडअलोन यूनिट लोगों को उनके परिवेश से अलग करके देखने के लिए मशीन लर्निंग मॉडल का उपयोग करती है। डेप्थ सेंसर्स के साथ जुड़कर, यह एल्गोरिदम मॉनिटर पर निकटता बताने वाले इंडिकेटर्स उपलब्ध कराते हुए, एसोसिएट्स के बीच सटीक डिस्टैंस मेजरमेंट देता है।

विजुअल क्यूज के साथ एक लाइव वीडियो फीड दिखाएगा

ये सेल्फ-कंटेंड स्टैंडअलोन यूनिट्स अमेज़ॅन इंडिया के फुलफिलमेंट सेंटर्स, सॉर्ट सेंटर्स और डिलीवरी स्टेशनों के प्रवेश द्वार और हाई ट्रैफिक एरिया में तैनात की जाएंगी। जैसे ही लोग कैमरे से आगे बढ़ेंगे, मॉनिटर विजुअल क्यूज के साथ एक लाइव वीडियो फीड दिखाएगा कि एसोसिएट्स एक-दूसरे से 6 फीट के भीतर हैं या नहीं। ऑन-स्क्रीन इंडिकेटर्स ऐसे डिजाइन किए गए हैं कि वे एसोसिएट्स को अपने आसपास के लोगों से उचित दूरी बनाए रखने की याद दिलाएं। 6 फुट की दूरी पर खड़े व्यक्तियों को हरे रंग के घेरे (ग्रीन सर्कल्स) के साथ हाइलाइट किया जाता है, जबकि इससे अधिक करीब व्यक्तियों को लाल रंग में हाइलाइट किया जाता है।

टेक्नोलॉजी सॉल्यूशंस में निवेश कर रहे हैं

डॉ. करुणा शंकर पांडे, डायरेक्टर –फुलफिलमेंट सेंटर्स एंड सेफ्टी, अमेज़न इंडियाने कहा कि“सबसे पहले सुरक्षा के दृष्टिकोण के साथ, हम हर समय अपनी सभी टीम की सुरक्षा को प्राथमिकता देने के लिए मापनीय (स्केलेबल) टेक्नोलॉजी सॉल्यूशंस में निवेश कर रहे हैं। हमें खुशी है कि हम भारत में अपनी सभी साइट पर इस वैश्विक इनोवेशन को शुरू कररहे हैं। ‘डिस्टेंस असिस्टेंट’हमारी सुरक्षा प्रथाओं को बढ़ाता रहेगा और सोशल डिस्टैंसिंग को सुधारने के लिए अतिरिक्त उपायों को लागू करने के हमारे प्रयासों को भी सशक्त करेगा। हमारे एसोसिएट्स कस्टमर्स को सुविधा प्रदान करते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.