डिप्रेशन से लड़ने एक साथ आए ऑस्कर विजेता और निर्देशक

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

मुंबई । अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के दुर्भाग्यपूर्ण निधन के बाद कई सेलिब्रिटी डिप्रेशन की अपनी लड़ाई के बारे में बोलने के लिए आगे आए हैं। निर्देशक शेखर कपूर, ऑस्कर विजेता एआर रहमान और कोच श्यामल वल्लभजी मानसिक स्वास्थ्य पर जागरुकता पैदा करने और बढ़ावा देने के लिए एक साथ आए हैं।

दक्षिण अफ्रीका के खेल वैज्ञानिक वल्लभजी कहते हैं कि यह वास्तव में सिर्फ गंभीरता थी। मुझे विज्ञान और आध्यात्मिकता के माध्यम से खुद को खोजने में मदद करने के बारे में एक विचार था। मैं चाहता था कि इसे एक शो के रूप में शुरू किया जाए, जिसे इन पर्सूट ऑफ बैलेंस कहा जाता है। यह जल्दी से सूक्ष्म सामग्री में बदल गया और हमने सीखा कि भारत को व्यक्तिगत रूप से विकास और महारत हासिल करने के लिए एक आवाज की जरूरत है। एक आवाज जो जरूरी नहीं कि एक धार्मिक संगठन से जुड़ी हो और एक जो तर्कसंगत दिमाग पर लागू होती है। यह वह था जिसे हमने बनाने के लिए निर्धारित किया था – जैसे व्यक्तिगत विकास में निवेश करने वाले दिमाग वाले लोगों का समुदाय।

श्यामल मानसिक स्वास्थ्य के बारे में प्रचार के लिए और अधिक हस्तियों के साथ सहयोग करने की योजना बना रहे है। वह कहते हैं कि हम (शेखर कपूर, एआर रहमान और श्यामल वल्लभजी) स्थानीय और अंतर्राष्ट्रीय सेलेब्स और शिक्षकों की एक सेना लाने की योजना बना रहे हैं। मानसिक स्वास्थ्य केवल कई विषयों में से एक है, जिस पर हम ध्यान केंद्रित करने की योजना बनाते हैं। हमारी दृष्टि बड़ी है और हमें विश्वास है कि हमारा क्यूरेटेड प्लेटफॉर्म किसी के लिए भी एक बेहतर संस्करण मंजि‍ल पाने का माध्यम होगा।

वर्क फ्रंट की बात करें तो श्यामल वल्लभजी ने ब्रीथ बिलीव बैलेंस पुस्तक के लिए लेखक बने। इन कठिन समयों में मानसिक स्वास्थ्य से जूझ रहे लोगों के लिए यह एक परम आवश्यकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.