नवजात शिशु को बेचता था मिशनरी ऑफ चैरिटी

0

रांची। मिशनरी ऑफ चैरिटी संस्था पर नवजात शिशु को बेचने का मामला दर्ज किया गया है। बच्चे को उत्‍तर प्रदेश के अग्रवाल दम्पति को 1.20 लाख में बेचा गया था। रांची के कोतबाली थाना में मामला दर्ज किया गया है। रांची सीडब्ल्यूसी द्वारा इस रहस्य का खुलासा किया गया। मिशनरी ऑफ चैरिटी की अनीमा निर्मल हृदय के सिस्टर के कहने पर बच्चे बेचती थी। मां बनने वाले अविवाहित लड़की को निर्मल हृदय में आश्रय दिया जाता है। बच्चा होने के बाद बच्चे को बिना सीडब्‍ल्‍यूसी में पेश किए लोगों को बेच जाता है। रांची सीडब्ल्यूसी कुछ दिनो से इसकी निगरानी की जा रही थी।

सीडब्ल्यूसी की अध्‍यक्ष रूपा कुमारी, सदस्‍य तनुश्री सरकार, प्रतिभा तिवारी,  और पीएलवी जहां परवीन,  डीएसडब्ल्यू कंचन सिंह, डीसीपीओ की तत्परता से बच्चा बेचने के रहस्य का खुलासा किया गया। वहां की स्टाफ ने खुद सीडब्ल्यूसी में सब कुछ लिखित में कबूल किया है। वहां एक नवजात भी पाया गया। अनिमा को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर ले गई है। रांची सीडब्ल्यूसी कोतवाली पुलिस को निर्मल हृदय के खिलाफ कार्रवाई करने और ऐसे जघन्य अपराध में संलिप्त सिस्टर को गिरफ्तार करने का अदेश दिया।

सीडब्‍ल्‍यूसी ने रांची के जेल रोड स्थित मिशनरी ऑफ चैरिटी संस्था मेंं छापेमारी की। वहांं 11 गर्भवती लड़कियों मौजूद  थी। उन्‍हें संरक्षण में लेकर संप्रेषण्‍ा गृह नामकुम भेजा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.