12-13 जनवरी की रात है खास, ये उपाय करवाएंगे घर-आंगन में धन वर्षा

रांची। 13 जनवरी, शुक्रवार को साल 2017 का पहला पुष्य नक्षत्र है। शुक्रवार को पड़ने के कारण इसका महत्व और भी अधिक बढ़ जाता है क्योंकि ये महालक्ष्मी के प्रिय दिन पर आ रहा है। इस शुभ योग को शुक्र पुष्य कहा जाएगा। ज्योतिषशास्त्रियों के अनुसार इस नक्षत्र में जो उपाय किए जाते हैं, वह अन्य दिनों से जल्दी और अधिक फलदायक होते हैं। शुक्र पुष्य का प्रारंभ आज रात यानि 12 जनवरी को 2.32 से होगा। जो 13 जनवरी की रात 1.47 पर समाप्त होगा। इस दौरान किए गए उपाय करवाएंगे घर-आंगन में धन वर्षा।

2017 का पहला पुष्य योग, बनाएगा छप्पर फाड़ संपत्ति का स्वामी

* चांदी का सिक्का जिस पर देवी लक्ष्मी बैठी मुद्रा में अंकित हो उसका पूजन करें। फिर उसे अपनी तिजोरी में रखें।

* लक्ष्मी मंदिर में कमल के फूल व सफेद रंग का मिष्ठान अर्पित करें।

* दक्षिणावर्ती शंख में केसर मिला दूध मिलाकर लक्ष्मीनारायण का अभिषेक करें।

* फंसा हुआ पैसा वापिस पाने के लिए पुष्य नक्षत्र की शाम को घर के ईशान कोण में गाय के घी का दीपक लगाएं।

* श्रीयंत्र लेकर आएं, पूजन के बाद उसे घर में स्थापित करें। घर में पहले से श्रीयंत्र है तोे शाम को उसका पूजन करें।

* शुभ मुहूर्त में चांदी से बने लक्ष्मी गणेश की मूर्त घर लेकर आएं और उन्हें तिजोरी में स्थापित करें।

* शाम को पीपल के पेड़ पर पंचमुखी दीपक लगाएं और तीन परिक्रमा करें।

* देवी लक्ष्मी को कमलगट्टे की माला चढ़ाएं।

* कर्ज से परेशान लोग लक्ष्मी मंदिर से जल लाकर पीपल पर चढ़ाएं।

* विष्णु सहस्रनाम के पाठ का बहुत महत्व है, यदि नहीं कर सकते तो श्रीविष्णु के हजारों नामों का फल देने वाले मंत्र का जाप करें।

‘नमो स्तवन अनंताय सहस्त्र मूर्तये, सहस्त्रपादाक्षि शिरोरु बाहवे।
सहस्त्र नाम्ने पुरुषाय शाश्वते, सहस्त्रकोटि युग धारिणे नम:।।’

इस श्लोक का प्रभाव उतना ही है, जितना विष्णु सहस्रनाम स्त्रोत्र का है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*