ब्रिटेन में ग्लोबल टीचर प्राइज की दौड़ में भारतीय शिक्षिका

लंदन। अनूठे तरीके से भौतिकी पढ़ाने वाली एक भारतीय शिक्षिका उन शीर्ष 50 दावेदारों में शामिल हैं,जो 10 लाख डॉलर के वैश्विक पुरस्कार की दौड़ में हैं।इस शिक्षिका को उनके भौतिकी पढ़ाने के प्रयोगधर्मी अंदाज के लिए पहचाना जाता है।

‘द ग्लोबल टीचर प्राइज 2017’ की आेर से मुंबई के एमईटी रिषीकुल विद्यालय की प्रधानाचार्य कविता सांघवी को भौतिकी जैसे जटिल विषय को दिलचस्प तरीके से पढ़ाने के लिए दावेदारों में शामिल किया गया हैै।उन्होंने अपने छात्रों को किताबी सिद्धांतों को असल जिंदगी की स्थितियों से जोड़कर देखने में मदद की।कविता ने कहा,‘‘कुछ दिन पहले,जब से जानकारी मिली है और मैंने अपना नाम शीर्ष 50 में देखा है,तब से मैं बादलों पर चल रही हूं, मुस्कुरा रही हूं और उन सभी लोगों के प्रति एक आभार महसूस कर रही हूं,जिन्होंने पेशेवर तौर पर मेरी ताकत और क्षमताओं को विकसित करने में मेरी मदद की।’’

उन्होंने कहा,‘‘यह पहचान मुझे वाकई खास महसूस कराती है और मुझे मेरी योग्यताओं एवं क्षमताओं को और अधिक विकसित करने के लिए प्रेरित करती है।यह पुरस्कार मुझे लगातार याद दिलाता रहेगा कि मैं अपने छात्रों और शिक्षकों के शैक्षणिक, पर्यावरणीय और सामाजिक विकास को लेकर समुदाय के प्रति जिम्मेदार एवं जवाबदेह हूं।’’इस साल के इन 50 शीर्ष दावेदारों को दुनिया भर के 179 देशों से आए 20 हजार से अधिक नामांकनों और आवेदनों में से चुना गया है।शीर्ष 50 दावेदारों में से 10 लोगों को फरवरी 2017 तक चुना जाएगा और इसके बाद ग्लोबल टीचर प्राइज एकेडमी अंतिम 10 लोगों में से एक विजेता का चयन करेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*